Translate

Featured post

“गीता” : एक ‘मानवीय ग्रंथ’ … एक ‘समग्र जीवन दर्शन’ … व ‘मानव समाज की अप्रतिम धरोहर’

            "गीता” का शाब्दिक अर्थ केवल गीत अर्थात् जो गाया जा सके से लिया जाता है । किन्तु आतंरिक रूप से इसका अर्थ है कि जिस...

Google+ Followers

Saturday, 25 May 2013

माओवादी हिंसा में महेंद्र कर्माँ की शहादत

माओवादी हिंसा में महेंद्र कर्माँ की शहादत 
*छत्तीसगढ़ के सुकमा में एक बड़े माओवादी हमले में महेंद्र करमा की शहादत 
महेंद्र कर्मा की शहादत आज चीख-चीख कर तमाम सेक्युलर व कांग्रेसियों से पूछ रही है --
सलवा जुडूम सही या गलत था?
इस बेहद दुखभरी घटना पर कांग्रेसियों को अपनी प्रतिक्रिया देने से पहले यह इंतजार कर लेना चाहिए कि केन्द्रीय सरकार के सत्ता के एक हिस्सा डा. विनायक सेन और अरुंधती राय की इस घटना पर क्या प्रतिक्रिया है, यदि ये दोनों इस घटना पर चुप हों तो मिडिया का यह कर्तव्य है कि इन दोनों के मुंह में अंगुली डालकर , उनकी प्रतिक्रिया लें 
देश को भी इन दोनों की प्रतिक्रिया की प्रतीक्षा अवश्य ही करनी चाहिए|

0 comments: