Translate

Wednesday, 18 June 2014

इराक -आतंकियों को अब जनता देगी जवाब! हाथों में उठा हथियार कहा-'बहुत हो चुका'

इराक -आतंकियों को अब जनता देगी जवाब! हाथों में उठा हथियार कहा-'बहुत हो चुका'
आतंकियों को अब जनता देगी जवाब! हाथों में उठा हथियार कहा-'बहुत हो चुका'

(फोटो: सद्र शहर में सेना के साथ हाथों में हथियार लिए सड़कों पर परेड करते वॉलिंटियर।)
        "इराक में खतरनाक हालात पैदा हो रहे हैं। आतंकी पूरी जमीन कब्जाना चाहते हैं। मातृभूमि की रक्षा करने का यही समय है, उठा लो हाथों में हथियार।" ये बातें इराक के शिया संप्रदाय के नेताओं ने यहां की जनता से आतंकवाद का खात्मा करने के मद्देनजर कही है।
बता दें कि बीते दिनों सार्वजनिक उपदेश देते हुए अयातोल्ला अली अल सिस्तानी के प्रवक्ता अब्देल मेहदी अल केरबिलाई ने कहा, "बहुत खतरनाक स्थिति पैदा हो रही है। आतंकी बगदाद पर कब्जा करना चाहते हैं।" आगे कहा, "जो लड़ने योग्य हैं, वे स्वयंसेवक बनें और इराकी सुरक्षा बलों का समर्थन करें।"
आतंकियों को अब जनता देगी जवाब! हाथों में उठा हथियार कहा-'बहुत हो चुका'

 सद्र शहर में अयातोल्ला की तस्वीर साथ लिए आतंकवाद से लड़ने चले स्वयंसेवक।
बगदाद पर नजर!
अयातोल्ला ने कहा, "हर नागरिक का फर्ज बनता है कि वह आतंकवाद का सामना करे। फिर चाहे, वह किसी भी धर्म का क्यों न हो।" इस दौरान अयातोल्ला ने देश के राजनीतिक बलों से मतभेदों को पीछे छोड़ सेना का समर्थन करने की भी अपील की। अयातोल्ला की अपील के बाद जनता बढ़-चढ़ कर सेना का साथ देने के लिए सामने आ रही है। इनमें युवा से लेकर महिलाएं और बुजुर्ग तक शामिल हैं।     
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इराक में इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड सीरिया (आईएसआईएस) कई प्रमुख शहरों पर कब्जा कर चुका है। इनमें मोसुल और बैजी शामिल हैं। आतंकियों की नजर अब राजधानी बगदाद पर है। आतंकी पूरी ताकत के साथ राजधानी की ओर बढ़ रहे हैं।

0 comments:

Post a Comment